संवाद लेखन। उदाहरण। विशेषता। महत्व। परिभाषा

संवाद की परिभाषा

संवाद लेखन। उदाहरण। विशेषता। महत्व। परिभाषा | "जब दो या दो से अधिक व्यक्ति किसी विशेष मुद्दे पर आपस में बातचीत करते हैं तो उसे संवाद कहते हैं।"

संवाद दो शब्दों से मिलकर बना है सम् और वाद । इस प्रकार संवाद का शाब्दिक अर्थ समान रूप से विचारों का आदान-प्रदान होता है।

संवाद का महत्व


सृष्टि में संवाद का बहुत ही महत्व है। बिना संवाद के मनुष्य सामाजिक प्राणी नहीं बन सकता है। संवादों के माध्यम से केवल शब्दों का ही आदान- प्रदान नहीं होता बल्कि उनका प्रयोग करने वालों के चेहरे पर तरह-तरह के हाव-भाव भी प्रकट होते हैं, जो संवादों में प्रयुक्त किए जाने वाले शब्दों के आरोह-अवरोह को नाटकीय ढंग से स्वाभाविकता प्रदान करते हैं।

संवादों के बिना दो लोगों के बीच बातचीत गति नहीं पकड़ सकती। संवादहीनता की स्थिति तो जड़ अवस्था को जन्म देती है। सामान्य बातचीत, लड़ाई-झगड़ा, हँसी-मजाक, प्रेम-घृणा, वाद-विवाद आदि सभी संवादों के सहारे ही पूरे होते हैं। संवादों में अनेक गुण होने चाहिए
ताकि उनसे दूसरों को मनचाहे ढंग से प्रभावित किया जा सके या उन पर वही प्रभाव डाला जा सके जो हम डालना चाहते हैं।


संवाद-लेखन की विशेषता


संवाद की विशेषता को समझे बिना एक आकर्षक और प्रभावशाली संवाद नहीं लिखा जा सकता है। संवाद लिखते समय निम्नलिखित बिन्दुओं पर ध्यान रखना चाहिए--

1-संवाद छोटे, सरल तथा संक्षिप्त होने चाहिए।
2- संवाद रोचक तथा सरल होने चाहिए।
3- संवादों में स्वाभाविकता तथा चुटीलापन अवश्य होना चाहिए।
4- संवादों की भाषा सरल, भावानुकूल, पात्रानुकूल तथा विषयानुकूल होनी चाहिए।
5- विषय के अनुकूल इसमें हास्य, व्यंग्य तथा सजीवता होनी चाहिए।
6- संवाद लिखते समय क्रमबद्धता का ध्यान रखना चाहिए अर्थात् एक पात्र का संवाद दूसरे पात्र के संवाद से
परस्पर जुड़ा होना चाहिए।
7- संवाद का प्रत्येक वाक्य विषय से जुड़ा होना चाहिए।
8- संवादों में कलात्मक भाषा का भी प्रयोग करना चाहिए।
9- संवादों में बलावात तथा अनुतान का बड़ा महत्त्व है।
10- संवादों को लिखते समय उपयुक्त विराम चिह्नों का उचित स्थान पर प्रयोग अवश्य करना चाहिए।
11- पात्रों के मनोभावों एवं मुद्राओं को कोष्ठकों में लिखना चाहिए।

संवाद लेखन के उदहारण 


1. दो विद्यार्वियों के बीच दूरदर्शन की उपयोगिता पर संवाद

राम- आजकल जिसे भी देखो, टी. वी. से चिपका रहता है।

श्याम- यह ठीक है कि टी. वी. पर कई उपयोगी एवं मनोरंजक कार्यक्रम प्रसारित किए जा रहे हैं। पर कई विदेशी-चैनल अश्लील कार्यक्रम भी दिखा रहे हैं।

राम- इन कार्यक्रमों को देखकर हमारी युवा पीढ़ी गलत दिशा में जा रही है।

श्याम- इस प्रवृत्ति पर रोक लगानी आवश्यक है ।

राम- पर इस पर रोक कैसे लगाई जा सकती है?

श्याम- सरकार को 'दूरदर्शन नियंत्रण बोर्ड बनाना चाहिए। बोर्ड की स्वीकृति के बाद ही कार्यक्रम प्रसारित किया जाना चाहिए।

राम- वह तो ठीक है, पर समाज को भी तो कुछ करना चाहिए।

श्याम- हाँ, समाज में चेतना जगानी होगी ऐसा वातावरण तैयार करना होगा कि दूरदर्शन हिंसा और अश्लीलता भरे कार्यक्रम न दिखाने को विवश हो जाए।

राम- हमें घरों में ऐसे कार्यक्रम न देखने का वातावरण भी बनाना होगा।

2. विद्यालय की फुटबाल टीम से हटा दिए जाने पर मोहन और उसके शिक्षक के बीच बातचीत को संवाद के रूप में लिखिए

मोहन - सर! मैं आपसे कुछ बात करना चाहता हूँ।

शिक्षक-, हां, बताओ क्या बात करनी है?

मोहन - क्षमा करें सर! मैं आपसे पूछना चाहता हूँ कि मुझे विद्यालय की फुटबाल की टीम से क्यों निकाला गया।

शिक्षक - देखो मोहन, गणपति का खेल तुमसे अच्छा था, इसीलिए तुम्हारी जगह उसे ले लिया गया।

मोहन- यदि आप बुरा न मानें तो मैं एक विनती करना चाहता हूँ।

शिक्षक- हाँ, हाँ, निस्संकोच कहे।

मोहन- सर में भी यह नहीं चाहता कि किसी बेहतर खिलाड़ी को विद्यालय की टीम में स्थान न मिले पर...

शिक्षक - पर क्या ..

मोहन - सर, सुरेश को तो टीम में इसलिए रखा गया है क्योंकि उसके पिता.. । सर एक बार.. केवल एक बार आप मेरे और सुरेश के खेल की समीक्षा कीजिए और फिर आप जो निर्णय लेंगे मुझे उसमें कोई आपत्ति न होगी।

शिक्षक- ठीक है। हम कल ही एक नुमायशी मैच रखवाएंगे और उसमें तुम्हारे और सुरेश के खेल को देखेंगे और उसी के अनुसार अपने निर्णय पर विचार करेंगे।

मोहन- सर, आपका बहुत धन्यवाद।


3. दो युवकों के बीच ग्रीष्मावकाश बिताने के बारे में संवाद

राहुल - मित्र मोहित! गरमियों की छुट्टियाँ होने वाली हैं और दिल्ली की गरमी झेली नहीं जा रही।

मोहित- बात तो तुमने ठीक कही है, पर इतने रुपए कहाँ से आएँ कि पर्वतीय स्थल की सैर करके आएँ ।

राहुल - उसकी चिंता तुम मत करो। मसूरी में हमने एक 'होली डे होम' बुक करवा रखा है। वह हमें पंद्रह दिन के लिए मिल जाएगा।

मोहित- वहाँ हम खूब सैर-सपाटा करेंगे। एक हजार रुपयों का प्रबंध तो मैं कर सकता हूँ।

राहुल- देखो, हम वहाँ कम खर्च में अपना गुजारा चला लेंगे हमारा मुख्य उद्देश्य तो घूमना-फिरना है।

मोहित- तो ठीक है। मुझे तो खाना पकाना भी आता है। दोपहर का खाना हम मिलकर बना लिया करेंगे।

राहुल - यदि यह बात है तो मसूरी चलना पक्का रहा। मैं पंद्रह तारीख की टिकटें सबके लिए बुक करवा लेता हूँ।

4. दो मित्रों की अपने जीवन-लक्ष्य के बारे में बातचीत को लिखिए।

रमेश - दिनेश, तुमने अपने भविष्य के बारे में भी कुछ सोचा है?

दिनेश- हाँ, सोचा है! मैं बड़ा होकर एक व्यापारी बनना चाहता हूँ।

रमेश - तो क्या तुमने भी आजकल के कुछ भ्रष्ट तथा बेईमान व्यापारियों जैसा बनकर केवल धन कमाना ही अपने जीवन का उद्देश्य बना लिया है?

दिनेश- नहीं, नहीं, मैं बेईमानी से धन नहीं कमाऊँगा, पर जीवन में करूँगा केवल व्यापार तथा वह भी ईमानदारी से! पर तुमने क्या सोचा है?

रमेश- मैंने तो सोचा है कि बड़ा होकर मैं एक डाक्टर बनूँ।

दिनेश- अरे! डाक्टरी में तो व्यापार से भी अधिक कमाई है। आए दिन बीमारियाँ बढ़ती जा रही हैं और डॉक्टर, लोग मनमानी फीस वसूल करके अपनी जेबें भर रहे हैं। गरीब लोग तो बेचारे सरकारी अस्पतालों की लंबी लाइनों में लगे रहते हैं। और वहाँ भी दवाई के नाम पर उन्हें मिलती हैं तो दो चार गोलियाँ । क्या तुम ऐसा डॉक्टर बनना चाहते हो?

रमेश - मित्र! तुम गलत अनुमान लगा रहे हो। मैं बड़ा होकर ऐसा डॉक्टर बनना चाहता हूँ, जो कमाई तो जरूर करेगा, पर अपनी कमाई का कुछ प्रतिशत गरीबों की चिकित्सा में खर्च करेगा।

दिनेश- मित्र, यदि बुरा न मानो तो मुझे तो इसमें ज्यादा सच्चाई नजर नहीं आती।

रमेश- यदि मैं डाक्टर बन गया, तो तुम स्वयं देख लेना मेरे जीवन का लक्ष्य यही होगा।

5. बढ़ती जनसंख्या पर दो मित्रों में संवाद लिखिए।

आनंद- मित्र, आजकल तो नौकरी का मिलना अत्यंत दूभर होता जा रहा है।

विनोद- यह तो सच है, पर क्या तुम इसका कारण जानते हो?

विनोद- इसका कारण अवसरों की कमी ही हो सकता है। मित्र, इसका मूल कारण है जनसंख्या में अंधाधुंध वृद्धि।

आनंद- जनसंख्या वृद्धि से नौकरी कम होने का क्या संबंध है?

विनोद- बहुत बड़ा संबंध है। जनसंख्या वृद्धि के कारण नौकरी पाने वालों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है।

आनंद- हाँ, यह बात तो ठीक प्रतीत होती है। इस बढ़ती जनसंख्या ने अन्य समस्याओं को भी जन्म दिया है।

विनोद- वे समस्याएं कौन-कौन सी हैं?

आनंद- बढ़ती जनसंख्या के कारण स्कूलों में दाखिले की समस्या, मकानों की कमी होना, अस्पतालों में रोगियों की भीड़ तथा खान-पान की चीजों का अभाव होना जैसी समस्याएँ उत्पन्न हो रही हैं।

विनोद- इस समस्या पर काबू कैसे पाया जा सकता है?

आनंद- हमें छोटे परिवार का महत्व समझना होगा। परिवार में एक-दो बच्चे ही होने से उनका लालन-पालन भी अच्छे ढंग से हो सकता है।

6. बूढ़ी अमीना और पोते हामिद के मध्य संवाद लिखिए

अमीना - बेटे हामिद, तू मेले से इतनी जल्दी लौट आया ।

हामीद- हाँ दादी।

अमीना- देखू तो मेरा बेटा मेले से क्या लाया है?

हामीद- (चिमटा दिखाते हुए) दादी मैं यह चिमटा लाया हूँ।

अमीना- चिमटा! क्या तुझे मेले में लेने के लिए और कुछ खिलौना नहीं मिला?

हामीद- दादी, खिलौने तो टूट जाते हैं। मुझे तो यह चिमटा ही सबसे अच्छा लगा ।

अमीना- क्यों?

हामीद- दादी, यह चिमटा मैं तुम्हारे लिए लाया हूँ। रोटी सेंकते समय तुम्हारी अँगुलियाँ जल जाती थीं, इसीलिए इसे लाया।

अमीना- (हर्ष मिश्रित आश्चर्य से) अरे! तू यह चिमटा मेरे लिए लाया है। तुझे मेले में भी मेरी चिंता रही, क्या? क्या मिठाई खाने को तेरा मन नहीं हुआ?

हामीद- दादी, मिठाई से तो दाँत खराब हो जाते हैं। चिमटा तो तुम्हारे बहुत काम आएगा। बेटे! आज मैं निहाल हो गई। तेरे जैसा बेटा सबको मिले । (हामिद को गले लगाती है।)


संवाद अभ्यास प्रश्न


1. मकान मालिक तथा किराएदार के संवाद 40-50 शब्दों में लिखिए।

2- चिकित्सक तथा रोगी के संवाद 40-50 शब्दों में लिखिए ।

3. सवारी और बस परिचालक के संवाद 40-50 शब्दों में लिखिए ।

4. रेलवे टिकट विक्रेता और यात्री के संवाद 10-50 शब्दों में लिखिए ।

5. स्वामी और सेवक के संवाद 40-50 शब्दों में लिखिए।
6. विद्यालय की क्रिकेट टीम से हटा दिए जाने पर गौतम गंभीर और उसके शारीरिक शिक्षक के बीच हुई बातचीत
को संवाद के रूप में 40-50 शब्दों में लिखिए

7. हॉकी मैच के विषय में रितु और सुदेश दो सहेलियों के मध्य हुए संवाद को 40-50 शब्दों में लिखिए ।

8. दो महिलाएँ फैशन पर अपने-अपने विचार व्यक्त कर रही हैं उनके मध्य होने वाले संवाद को 40-50 शब्दों में लिखिए। लिखिए।

9. अदालत में जज तथा अपराधी के संवाद 40-50 शब्दों में

10. आपके पति अमरनाथ की तीर्थयात्रा पर जाना चाहते हैं किंतु आप इससे सहमत नहीं हैं। अपने तथा पति के मध्य होने वाले संवाद को 40-50 शब्दों में लिखिए।

11. अध्यापिका को प्राचार्य से अवकाश लेना है। दोनों के मध्य होनी वाली बातचीत को 40-50 शब्दों में दोनों के
लिखिए।

12. नौकरानी से कांच का गिलास टूट गया । मालकिन ने नौकरानी को खूब डॉटा। दोनों के मध्य के संवाद को 40-5 शब्दों में लिखिए।

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.